***** For other Fatawa, please click on the topics on the left *****



विषय की सूची

فتاویٰ > विविध

Share |
f:2131 -    नमाज़ में रुकू फर्ज़ है या वाजिब नहीं
Country : हैद्राबाद,
Name : इनायत अ़ली हिम्मती
Question:     इमाम ने एक सजदा कर के तशहुद पढ़ना शुरू कर दिया मुक़तदी ने कुछ देर बाद लुक़मा दिया तथा इमाम को याद आ गया तो उस ने दुसरा सजदा कर लिया और तशहुद पढ़ कर सजदे सहू कर लिया। क्या नमाज़ हुई या नहीं?
............................................................................
Answer:     नमाज़ में 2 सजदे फर्ज़ हैं।  2 सजदों के बीच तशहुद पढ़ने से ताक़ीर व विलम्भ फर्ज़ अनिवार्य आएगा अर्थात सजदे सहू से नमाज़ हो जाएगी।  रद्दुल मुहतार के हवाले से इमाम आज़म रहमतुल्लाहि अलैह का कथन व्याख्या किया है के 2 सजदों के बीच जलसे में कोई सोंच-विचार करे तो इस पर ताक़ीर रुक्न के कारण से सजदा सहू अनिवार्य है।  

जैसा के रद्दुल मुहतार, वाजिबात सलाह में उल्लेख है।  

{और अल्लाह तआ़ला सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखने वाला है,

मुफती सैय्यद ज़िया उद्दीन नक्षबंदी खादरी

महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया,

प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर}
All Right Reserved 2009 - ziaislamic.com